रविवार, मार्च 13, 2016

तहज़ीब

मेरी गफलतों ने मुझे को हलाक़त में डाला !!
गलत हो तुम, तेरी तहज़ीब के हम गुलाम है!

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Ads Inside Post