बुधवार, मार्च 30, 2016

नमाज़



नमाज़ इंसान को बुराईयों से पाक करती है, जब हम नमाज़ का इरादा करते है तो पहले पानी से वुज़ू करते है पानी बहुत बड़ी नेमत है जो इंसान के लिए हर किस्म की गन्दगी को धोने का बेहतरीन जरिया है, इसी तरह नमाज़ भी एक रब्बानी चश्मा है जिसमे नहाकर इंसान अपने आपको बुरे जज़्बात और गंदे खयालात से पाक करता है, नमाज़ बेहद कीमती है इसको हर हाल में कायम करना है |

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Ads Inside Post