बुधवार, सितंबर 04, 2013

लोटो…वापस…


छोड़कर कुरआन को लगे दुनिया में ….बेअस्ल 
(नेक फर्जिम / नेकदिल , बेअस्ल / निराधार) 
-एम साजिद

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Ads Inside Post