बुधवार, मार्च 30, 2016

रहबर ...

जो लोग सारी दुनिया को राह दिखाने वाले थे
क्या वो आज खुद भटक रहे है .... ?

कुरआन को इमाम बनाना एकमात्र रास्ता है, जिसका इमाम कुरआन है वही हक पर है, बाक़ी दुनियापरस्तों की पहचान इतनी मुश्किल भी नहीं ........

दरअस्ल हमसे दुनिया की लाज्ज़तें नहीं छूट रही !



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Ads Inside Post